इंडियन ह्यूम पाइप फंडामेंटल एनालिसिस

इंडियन ह्यूम पाइप (Indian Hume Pipe) को 639 करोड़ रुपए का आर्डर मिला तो, एक ही दिन में चढ़ गए 5.23% कंपनी के शेयर। इस पाइप और कंक्रीट स्लीपर्स बनाने वाली कंपनी के शेयरों में यह बड़ा उछाल एक बड़ा आर्डर मिलने के कारण आया है।

इस कंपनी को यह आर्डर उड़ीसा में रूरल वाटर सप्लाई और सेनिटेशन के लिए मिला है इसमें पूरी डिस्ट्रिक्ट (Puri District) के 6 ब्लॉक शामिल है। इस प्रोजेक्ट में ईपीसी कॉन्ट्रैक्ट पर अगले 5 साल का मैंटीनैंस भी शामिल है।

आज इस ब्लॉग में हम इंडियन ह्यूम पाइप के फंडामेंटल एनालिसिस के बारे में बात करेंगे, जिसमे शामिल है कंपनी के फंडामेंटल एनालिसिस, कंपनी ओवरव्यू, इंडस्ट्री ओवरव्यू, रेवेन्यू और नेट प्रॉफिट, प्रॉफिट मार्जिन, रीटर्न रेश्यो, डेब्ट एनालिसि और कंपनी की भविष्य की योजनाएं आदि।

image showing factory of इंडियन ह्यूम पाइप
इंडियन ह्यूम पाइप

इंडियन ह्यूम पाइप फंडामेंटल एनालिसिस: (Indian Hume Pipe Fundamental Analysis In Hindi)

कंपनी ओवरव्यू:

इंडियन ह्यूम पाइप कंपनी लिमिटेड भारत में पाइप और कंक्रीट स्लीपर्स और उससे जुड़े प्रोडक्ट बनाती है। यह पाइपलाइन के निर्माण, बिछाने और जोड़ने का काम करती है। कंपनी पीने और सिंचाई के पानी की सप्लाई के लिए जल आपूर्ति परियोजनाओं को कॉन्ट्रैक्ट पर करती है।

शहरों और कस्बों के लिए जल निकासी पाइपलाइन और सीवर, पनबिजली परियोजनाओं के लिए पेनस्टॉक पाइप और थर्मल पावर प्लांटों के लिए शीतलन जल पाइपलाइनों को डिजाइन, निर्माण और स्थापित करती है। यह प्रीस्ट्रेस्ड कंक्रीट सिलेंडर पाइप, प्रीस्ट्रेस्ड कंक्रीट पाइप, बार रैप्ड स्टील सिलेंडर पाइप, रीइन्फोर्स्ड सीमेंट कंक्रीट पाइप, स्टील पाइप और पेनस्टॉक पाइप का भी निर्माण करती है।

रेलवे के लिए प्रीस्ट्रेस्ड कंक्रीट मोनोब्लॉक स्लीपरों का निर्माण और सप्लाई का काम करती है। इसके साथ ही कंपनी पंपिंग मशीनरी, ट्रीटमेंट प्लांट, ओवरहेड टैंक सहित कई अन्य प्रोजेक्ट भी करती है। कंपनी के ग्राहकों में केंद्र सरकार, राज्य सरकारें और स्थानीय निकाय आदि शामिल हैं।

इस कंपनी की स्थापना 1926 में हुई थी और इसका मुख्यालय मुंबई, भारत में सिथित है। यह कंपनी IHP फिनवेस्ट लिमिटेड की सहायक कंपनी भी है।

इस कंपनी का मार्केट कैप 1503 करोड़ का है, इस कंपनी के शेयर में तेजी जारी है, एक महीने में शेयर ने 23 फीसदी, 3 महीने में 110 फीसदी रीटर्न दिया है। कंपनी ने जुलाई में डिविडेंड भी दिया था।

कंपनी के तिमाही नतीजों पर एक नज़र डालें तो कारोबारी साल 2022-23 की अप्रैल-जून तिमाही के मुकाबले कारोबारी साल 2023-24 की अप्रैल-जून तिमाही में कंपनी का मुनाफा 60 फीसदी गिरकर 8.51 करोड़ रुपये पर रह गया है। एक साल पहले यह मुनाफा 20.67 करोड़ रुपये था। मार्च 2023 के मुकाबले जून तिमाही में कंपनी में प्रमोटर्स की हिस्सेदारी बढ़ी है यह हिस्सेदारी 69.92 फीसदी से बढ़कर 72.34 फीसदी हो गई है।

कंपनी का शेयर होल्डिंग रेश्यो निचे की इमेज में दिया गया है:

indian hump pipe share holding summary in round circle showing promoter, mf, fii, public and others share holding in different color
indian hump pipe share holding summary

इंडस्ट्री ओवरव्यू:

इंडियन ह्यूम पाइप कंपनी लिमिटेड भारत की एक अग्रणी कंपनियों में से एक है जो पाइप, स्टील पाइप और कंक्रीट पाइप और कंक्रीट स्लीपर्स और उससे जुड़े प्रोडक्ट बनाती है। यह पाइपलाइन के निर्माण, बिछाने और जोड़ने का काम करती है। यह सेंट्रल गवर्मेंट, स्टेट गवर्मेंट, रेलवे और बुनियादी ढांचा क्षेत्रों को सेवाएं प्रदान करता है।

कंक्रीट पाइप बाजार का जल निकासी, पीने योग्य पानी और सिंचाई क्षेत्रों में प्रयोग होता है। इंटरनेशनल कंक्रीट पाइप बाजार के 2022 से 2027 तक 4% की सीएजीआर के साथ 2027 तक अनुमानित $28.8 बिलियन तक पहुंचने की उम्मीद है। इस बाजार के लिए प्रमुख विकास चालक आवासीय और गैर-आवासीय निर्माण गतिविधियां और पुरानी पाइपलाइनों का प्रतिस्थापन हैं। कंक्रीट पाइप के सबसे बड़े सेक्टर बने रहने की उम्मीद है क्योंकि इसकी उच्च ताकत, कम लागत और स्थायित्व के कारण सबसे अधिक वृद्धि देखी गयी है।

कंपनी रेवेन्यू और नेट प्रॉफिट:

मार्च 2022 में कंपनी का रेवेन्यू 1520.39 करोड़ रुपए था और नेट प्रॉफिट 57.79 करोड़ रुपए था जो बढ़कर मार्च 2023 में कंपनी का रेवेन्यू 1542.88 करोड़ हो गया और नेट प्रॉफिट 55.70 करोड़ हो गया। जून 2023 तक कंपनी का रेवेन्यू 1529.75 करोड़ रुपए रहा है और नेट प्रॉफिट 43.53 करोड़ रुपए रहा है।

डेब्ट एनालिसि:

मार्च 2022 में कंपनी की नेट वर्थ 650.22 करोड़ रुपए था और डेब्ट 582.65 करोड़ रुपए था जो बढ़कर मार्च 2023 में कंपनी की नेट वर्थ 695.32 करोड़ हो गया और डेब्ट 631.74 करोड़ हो गया।

रीटर्न रेश्यो:

कंपनी के कुछ महत्वपूर्ण रेश्यो निचे दिए गए है:

इंडियन ह्यूम पाइप important ratio
इंडियन ह्यूम पाइप important ratio

कंपनी की भविष्य की घोषणाएं:

इस कंपनी को उड़ीसा में रूरल वाटर सप्लाई और सेनिटेशन के लिए यह 639 करोड़ रुपए का आर्डर मिला है इसमें पूरी डिस्ट्रिक्ट के 6 ब्लॉक शामिल है। इस आर्डर को पूरा करने के किये कंपनी ने 2 साल का लक्ष्य लिया है। इस प्रोजेक्ट में ईपीसी कॉन्ट्रैक्ट पर अगले 5 साल का मैंटीनैंस भी शामिल रहेगा।

कंक्रीट पाइप के सबसे बड़े सेक्टर बने रहने की उम्मीद है क्योंकि इसकी उच्च ताकत, कम लागत और स्थायित्व के कारण सबसे अधिक वृद्धि देखी गयी है।साथ में कंपनी पाइपलाइन में नए उत्पादों की मांग को लेकर काफी आशावादी दिखाई दे रही है।

शेयर मार्केट की ताजा न्यूज़ के लिए इन्हे भी पढ़ें:

निष्कर्ष:

इस ब्लॉग में हम ने इंडियन ह्यूम पाइप कंपनी के फंडामेंटल एनालिसिस देखे और कंपनी के फाइनेंसियल और रीटर्न रेश्यो पर एक नज़र डाली। कंपनी सेंट्रल गवर्मेंट और स्टेट गवर्मेंट, रेलवे के प्रोजेक्ट करती है। कंपनी को अभी हाल ही में उड़ीसा सरकार से 639 करोड़ रुपए का आर्डर मिला है और इससे पहले भी उत्तर प्रदेश सरकार से आर्डर मिला था।

यह कंपनी भारत में पाइप और कंक्रीट स्लीपर्स और उससे जुड़े प्रोडक्ट बनाने का काम करती है। यह पाइपलाइन के निर्माण और उसके बिछाने और जोड़ने का काम करती है। कंपनी पीने और सिंचाई के पानी की सप्लाई के लिए जल आपूर्ति परियोजनाओं को कॉन्ट्रैक्ट बेस पर करती है।

अक्सर पूछे जाने वाले प्रश्न: (FAQs)

Q. इंडियन ह्यूम पाइप कंपनी के फाउंडर कौन है?

Ans. इंडियन ह्यूम पाइप कंपनी के फाउंडर स्वर्गीय सेठ. वालचंद हीराचंद थे, जिन्होंने वर्ष 1926 में उन्होंने “द इंडियन ह्यूम पाइप कंपनी” का गठन किया।

Q. इंडियन ह्यूम पाइप कंपनी की शाखाएँ कहां-कहां पर हैं?

Ans. सुलखा, चिलमथुर, चौटुपाल, धुले, हैदराबाद, कन्हान, करारी और केकड़ी।

Leave a comment