विष्णुसूर्या प्रोजेक्ट्स एंड इंफ्रा आईपीओ समीक्षा 2023 – जीएमपी, मूल्य, विवरण

विष्णुसूर्या प्रोजेक्ट्स एंड इंफ्रा आईपीओ समीक्षा: विष्णुसूर्या प्रोजेक्ट्स एंड इंफ्रा लिमिटेड (Vishnusurya Projects and Infra Limited) अपना आईपीओ लेकर आ रही है। यह एक एसएमई आईपीओ है, जो कुल मिलाकर 49.98 करोड़ रुपए तक है। कंपनी को एनएसई एसएमई पर लिस्टिंग किया जायेगा।

आईपीओ के सदस्यता के लिए खुलने की तारीख 29 सितंबर, 2023 रहेगी और बंद होने की तारीख 5 अक्टूबर, 2023 रहेगी।

इस ब्लॉग में, हम विष्णुसूर्या प्रोजेक्ट्स एंड इंफ्रा आईपीओ समीक्षा 2023 को देखेंगे और कंपनी के कामकाज, इसकी ताकत और कमजोरियों, इसके फाइनेंसियल मैट्रिक्स और जीएमपी का विश्लेषण करेंगे।

विष्णुसूर्या प्रोजेक्ट्स एंड इंफ्रा आईपीओ
विष्णुसूर्या प्रोजेक्ट्स एंड इंफ्रा आईपीओ

विषय सूची

विष्णुसूर्या प्रोजेक्ट्स एंड इंफ्रा आईपीओ – कंपनी ओवरव्यू: (Vishnusurya Projects and Infra IPO – Company Overview in Hindi)

1996 में निगमित, यह कंपनी क्रशिंग प्लांट्स और सैंड वाशिंग प्लांट्स का उपयोग करके खुरदरे पत्थरों के खनन और निर्माण-रेत के निर्माण में लगी हुई है।

कंपनी के तीन व्यावसायिक कार्यक्षेत्र हैं:

इंजीनियरिंग, खरीद और निर्माण (ईपीसी): कंपनी संपत्ति विकास और रियल्टी उद्योग जैसे वाणिज्यिक और संस्थागत स्थान, कारखाने और गोदाम, लक्जरी विला, कार्यालय, रिसॉर्ट्स, मॉल, औद्योगिक पार्क, प्रदर्शनी और कन्वेंशन सेंटर, स्टेडियम, मनोरंजन, औद्योगिक निर्माण और ब्राउनफील्ड विकास, आवासीय परियोजनाओं में विविध प्रकार की क्षमताएं प्रदान करती है।

अग्ग्रेगेट्स का खनन और निर्मित रेत का उत्पादन: कंपनी भारत के तमिलनाडु में दो खदानों का संचालन करती है। पहली नीली धातु खनन खदान और क्रशिंग सुविधा तमिलनाडु के विरुधुनगर जिले के अरुप्पुकोट्टई में 105 एकड़ में फैली हुई है। यह सुविधा संपूर्ण चट्टान तोड़ने और चट्टान कार्यों को संभालती है और यहां क्रशिंग मशीन 250 टन प्रति घंटे और 100 टन रेत धोने में सक्षम है। दूसरी अग्ग्रेगेट्स और निर्मित रेत इकाई वंदावसी, तिरुवन्नमलाई जिले में स्थित है। यह सुविधा एक क्रशिंग मशीन से सुसज्जित है जो 350 टन और 150 टन रेत धोने में सक्षम है।

ड्रोन सेवाएँ: कंपनी निगरानी, ​​मानचित्रण और सर्वेक्षण उद्देश्यों के लिए उपयोग किए जाने वाले ड्रोन के लिए एकीकृत समाधान भी प्रदान करती है।

कंपनी को विभिन्न विभागों और एजेंसियों के साथ क्लास -1 ठेकेदार के रूप में मान्यता दी गई है। जिसमे ग्रेटर चेन्नई कॉर्पोरेशन (जीसीसी), तमिलनाडु सरकार जल संसाधन विभाग, तमिलनाडु जल आपूर्ति और ड्रेनेज बोर्ड और राजमार्ग विभाग जिसके अनुसार कंपनी परियोजनाएं शुरू करने के लिए पात्र है। इसको विभिन्न अन्य विभागों और एजेंसियों द्वारा सम्मानित किया गया।

कंपनी का राजस्व निर्माण समुच्चय निर्माण से 56.53% और ईपीसी सेवाओं से 27.18% और अन्य परिचालन राजस्व से 16.2% उत्पन्न होता है।

विष्णुसूर्या प्रोजेक्ट्स एंड इंफ्रा आईपीओ – इंडस्ट्री ओवरव्यू:

भारतीय बुनियादी ढांचा उद्योग, विश्व स्तर पर सबसे तेजी से बढ़ने वाले उद्योगों में से एक है, 2023 से 2028 तक 9.57% की सीएजीआर से बढ़ने का अनुमान है। इसका कारण “स्मार्ट सिटीज़ मिशन” और “सभी के लिए आवास” कार्यक्रम है।

2023-24 के बजट में, बुनियादी ढांचे के लिए पूंजी निवेश परिव्यय 33% बढ़ाकर 10 लाख करोड़ रुपये (122 बिलियन अमेरिकी डॉलर) कर दिया गया है। नेशनल इंफ्रास्ट्रक्चर पाइपलाइन (एनआईपी) परियोजना की संख्या 6,835 परियोजनाओं से बढ़कर 9,142 हो गई है।

भारत में मानवरहित हवाई वाहन (यूएवी) या ड्रोन उद्योग ने रोबोटिक्स, कृत्रिम बुद्धिमत्ता, लघुकरण, स्वचालन में प्रगति के कारण बिजली, कृषि, बुनियादी ढांचे, दूरसंचार, थर्मल इमेजिंग, सामग्री विज्ञान और खनन जैसे क्षेत्रों में विर्धि हुई है।

वैश्विक ड्रोन आयात में भारत की हिस्सेदारी 22.5% है और 2025 तक दुनिया का तीसरा सबसे बड़ा ड्रोन बाजार होने का अनुमान है। वित्त वर्ष 2020 में भारतीय यूएवी उद्योग का मूल्य 830 मिलियन अमेरिकी डॉलर था जिसके 14.5% की सीएजीआर से बढ़ने का अनुमान है।

शेयर मार्केट की ताजा न्यूज़ के लिए इन्हे भी पढ़ें:

विष्णुसूर्या प्रोजेक्ट्स एंड इंफ्रा आईपीओ – फाइनेंसियल:

इस कंपनी ने पिछले कुछ वर्षों में महत्वपूर्ण वृद्धि दिखाई है। कंपनी की संपत्ति मार्च 2021 में 95.94 करोड़ रुपये थी जो बढ़कर मार्च 2023 में 121 करोड़ रुपये हो गई है। राजस्व भी मार्च 2021 में 63.3 करोड़ रुपये था जो मार्च 2023 में 133.2 करोड़ रुपये हो गया है।

कंपनी की कुल संपत्ति भी मार्च 2021 में 35.7 करोड़ थी जो बढ़कर 2023 में 59.5 करोड़ हो गई है। कर पश्चात लाभ (पीएटी) मार्च 2021 में 4 करोड़ रुपए था जो बढ़कर मार्च 2023 में 16.5 करोड़ रुपये हो गया है।

साथ ही कंपनी की उधारी भी मार्च 2021 में 14.7 करोड़ रुपये थी जो बढ़कर मार्च 2023 में 36.2 करोड़ रुपये हो गई है, इसका ऋण-इक्विटी अनुपात 1.03 है।

कंपनी का नियोजित पूंजी पर रिटर्न (आरओसीई) 31.22% है और इक्विटी पर रिटर्न (आरओई) 27.8% है।

फाइनेंसियल मैट्रिक्स:

निचे दी गयी तालिका में कंपनी के कुछ इम्पोर्टेन्ट फाइनेंसियल मैट्रिक्स दिए गए हैं:

अवधि समाप्त31 मार्च 202131 मार्च 202231 मार्च 2023
संपत्ति9,594.7211,849.3912,105.28
आय6,339.339,603.6213,326.06
कर के बाद लाभ229.182,158.971,736.64
निवल मूल्य3,573.724,155.885,952.39
आरक्षित और अधिशेष3,078.323,660.485,043.99
कुल उधार1,472.323,489.493,625.24

विष्णुसूर्या प्रोजेक्ट्स एंड इंफ्रा के प्रतिस्पर्धी:

कंपनी अत्यधिक प्रतिस्पर्धी क्षेत्र में काम करती है। इस उद्योग में कुछ उल्लेखनीय प्रतिस्पर्धीुओं में सोनू इंफ्राटेक लिमिटेड, एबी इंफ्राबिल्ड लिमिटेड और रचना इंफ्रास्ट्रक्चर लिमिटेड शामिल हैं।

विष्णुसूर्या प्रोजेक्ट्स एंड इंफ्रा की ताकतें: (Pros)

  • इस कंपनी को जलमार्ग, सड़क, पुल और फ्लाईओवर निर्माण परियोजनाओं पर जोर देने के लिए जाना जाता है। इस फोकस के कारण विभिन्न परियोजनाओं के प्रबंधन में 23,550 लाख के पर्याप्त ऑर्डर बुक मूल्य से पता चलता है।
  • इसने निर्माण, खनन और ड्रोन प्रौद्योगिकी क्षेत्रों में सफलतापूर्वक योगदान दिया है। कंपनी के ग्राहकों में विभिन्न सरकारी और अर्ध-सरकारी संगठनों के साथ-साथ बुनियादी ढांचा परियोजनाओं हैं।
  • कंपनी की ताकत मजबूत परियोजना प्रबंधन क्षमताओं, उच्च गुणवत्ता वाले निर्माण मानकों में निहित है जो समय पर परियोजना निष्पादन करती है।
  • 27 से अधिक इंजीनियरों की एक इन-हाउस टीम कंपनी के डिजाइन और इंजीनियरिंग कौशल में योगदान देती है।
  • इसके पास तमिलनाडु में दो प्रमुख स्थानों: वंदावसी और अरुपुकोट्टई में खदानें और क्रशर प्लांट हैं। ये सुविधाएं थिरुनेलवेली, मदुरै, थुथुकुडी, रामनाथपुरम और चेन्नई सहित कई जिलों को सेवाएं प्रदान करती हैं।

विष्णुसूर्या प्रोजेक्ट्स एंड इंफ्रा की कमजोरियाँ: (Cons)

  • इस कंपनी का व्यवसाय निर्माण और बुनियादी ढांचा उद्योग के प्रदर्शन पर निर्भर करता है, खासकर भारत के तमिलनाडु क्षेत्र में। इस क्षेत्र में कोई भी आर्थिक या नीतिगत परिवर्तन इसके व्यवसाय पर प्रतिकूल प्रभाव डाल सकता है।
  • आगामी परियोजनाओं को अपेक्षित समापन तिथियों तक पूरा करने में कंपनी की असमर्थता का व्यवसाय पर प्रतिकूल प्रभाव पड़ सकता है।
  • इसको स्टील, ईंट, सीमेंट, रेत और रेडी-मिक्स कंक्रीट जैसी प्रमुख निर्माण सामग्री के लिए तीसरे पक्ष के विक्रेताओं पर निर्भर करना पड़ता है। करों और लेवी सहित कीमतों में कोई भी वृद्धि या इन सामग्रियों की आपूर्ति में कोई कमी व्यवसाय पर नकारात्मक प्रभाव डाल सकता है।
  • कंपनी ड्रोन उद्योग में काम करती है, जो प्रौद्योगिकी और उद्योग की जरूरतों में तेजी से विकसित हो रहे बदलावों के कारण काफी हद तक जोखिम भरा है।

विष्णुसूर्या प्रोजेक्ट्स एंड इंफ्रा आईपीओ – जीएमपी: (Vishnusurya Projects and Infra IPO – GMP in Hindi)

इस कंपनी को 10-10-2023 को स्टॉक एक्सचेंज में सूचीबद्ध किया गया था। आईपीओ को 44.11 गुना सब्सक्राइब किया गया था। इस आईपीओ के लिए अंतिम जीएमपी 7 रुपए था, 10 अक्टूबर 2023 09:25 AM पर अपडेट किया गया। अंतिम जीएमपी के अनुसार, आईपीओ के लिए अपेक्षित लाभ/हानि 10.29% था।

विष्णुसूर्या प्रोजेक्ट्स एंड इंफ्रा आईपीओ – ​​मुख्य जानकारी:

प्रमोटर: श्री भवानी जयप्रकाश

बुक रनिंग लीड मैनेजर: खंडवाला सिक्योरिटीज लिमिटेड

प्रस्ताव के रजिस्ट्रार: कैमियो कॉर्पोरेट सर्विसेज लिमिटेड

विष्णुसूर्या प्रोजेक्ट्स एंड इंफ्रा आईपीओ – समय सारिणी (अस्थायी अनुसूची):

यह आईपीओ 29 सितंबर, 2023 को खुलेगा है और 5 अक्टूबर, 2023 को बंद होगा।

इस आईपीओ से सम्बंधित कुछ महत्वपूर्ण टाईमटेबल निचे की तालिका में दिया गया है:

आईपीओ खुलने की तारीखशुक्रवार, 29 सितम्बर 2023
आईपीओ बंद होने की तारीखगुरुवार, 5 अक्टूबर, 2023
आवंटन का आधारमंगलवार, 10 अक्टूबर 2023
रिफंड की शुरूआतबुधवार, 11 अक्टूबर 2023
डीमैट में शेयरों का क्रेडिटगुरुवार, 12 अक्टूबर 2023
लिस्टिंग दिनांकशुक्रवार, 13 अक्टूबर 2023
UPI मैंडेट पुष्टिकरण के लिए कट-ऑफ समय5 अक्टूबर 2023 को शाम 5 बजे

विष्णुसूर्या प्रोजेक्ट्स एंड इंफ्रा आईपीओ – विवरण:

आईपीओ के कुछ महत्वपूर्ण विवरण निचे दी गयी तालिका में दिए गए हैं:

आईपीओ तिथि29 सितंबर 2023 से 5 अक्टूबर 2023 तक
लिस्टिंग दिनांक[13 अक्टूबर 2023]
फेस वैल्यू₹10 प्रति शेयर
कीमत₹68 प्रति शेयर
लॉट साइज2000 शेयर
कुल अंक आकार7,350,000 शेयर (कुल मिलाकर ₹49.98 करोड़ तक)
ताजा अंक7,350,000 शेयर (कुल मिलाकर ₹49.98 करोड़ तक)
विषय वर्गफिक्स्ड प्राइस इश्यू आईपीओ
लिस्टिंगएनएसई एसएमई
शेयर होल्डिंग प्री इश्यू17,259,671
शेयर होल्डिंग पोस्ट इश्यू24,609,671
बाज़ार निर्माता भाग370,000 शेयर
शेयर होल्डिंग प्री इश्यू88.74%
शेयर होल्डिंग पोस्ट इश्यू62.24%

की परफॉरमेंस इंडिकेटर (KPI):

इसकी मार्केट कैप 121.06 करोड़ रुपये और पी/ई (x) 2.69 है।

के.पी.आईमान
पी/ई (x)2.69
आरओई27.86%
आरओसीई31.22%
ऋण इक्विटी1.03
ईपीएस (रु.)25.3
RoNW27.86%

कंपनी संपर्क विवरण:

विष्णुसूर्या प्रोजेक्ट्स एंड इंफ्रा लिमिटेड,
दूसरी मंजिल, क्यूबास टेम्पल टॉवर,
नंबर 76/25, नॉर्थ माडा स्ट्रीट, मायलापुर,
चेन्नई – 600004
फोन : +91-44-24950019
ईमेल : cs@vishnusurya.com
वेबसाइट : https://www.vishnusurya.com/

विष्णुसूर्या प्रोजेक्ट्स एंड इंफ्रा आईपीओ का उद्देश्य:

कंपनी का उद्देश्य इश्यू से प्राप्त आय का उपयोग निम्नलिखित वस्तुओं के वित्तपोषण के लिए करना है:

  • सामान्य कॉर्पोरेट उद्देश्य।
  • कंपनी की कार्यशील पूंजी आवश्यकताओं का वित्तपोषण।
  • कंपनी द्वारा लिए गए कुछ बकाया उधारों का आंशिक या पूर्ण पुनर्भुगतान/पूर्व भुगतान।

शेयर मार्केट की ताजा न्यूज़ के लिए इन्हे भी पढ़ें:

निष्कर्ष:

इस ब्लॉग में हम ने विष्णुसूर्या प्रोजेक्ट्स एंड इंफ्रा आईपीओ समीक्षा 2023 के विवरण को देखा। हम यह निष्कर्ष निकाल सकते है कि कंपनी बुनियादी ढांचे के निर्माण और संबंधित सेवा क्षेत्र में है। कंपनी ने बुनियादी ढांचा परियोजनाओं और भौगोलिक विस्तार की योजनाओं पर अपने मजबूत फोकस के साथ महत्वपूर्ण विकास और तकनीकी कौशल का प्रदर्शन किया है।

हालाँकि, उच्च ऋण-से-इक्विटी अनुपात, एक विशिष्ट भौगोलिक क्षेत्र पर निर्भरता और ड्रोन जैसी तेजी से विकसित हो रही प्रौद्योगिकियों के साथ तालमेल बनाए रखने की आवश्यकता जैसी चुनौतियाँ संभावित जोखिम भरी हैं। 31 अगस्त, 2023 तक इसके पास 161+ करोड़ रुपये से अधिक के ऑर्डर उपलब्ध हैं।

अक्सर पूछे जाने वाले प्रश्न: (FAQs)

Q. विष्णुसूर्या प्रोजेक्ट्स एंड इंफ्रा लिमिटेड आईपीओ क्या है?

Ans. विष्णुसूर्या प्रोजेक्ट्स एंड इंफ्रा लिमिटेड आईपीओ फेस वैल्यू 10 रुपए के 7,350,000 इक्विटी शेयरों का एक एसएमई आईपीओ है, जो कुल मिलाकर 49.98 करोड़ रुपए तक का है। इश्यू की कीमत 68 रुपए प्रति शेयर है। न्यूनतम लोट साइज 2000 शेयर का है।

आईपीओ 29 सितंबर, 2023 को खुलेगा और 5 अक्टूबर, 2023 को बंद होगा। कंपनी को एनएसई एसएमई पर लिस्टिंग किया जायेगा।

Q. विष्णुसूर्या प्रोजेक्ट्स एंड इंफ्रा आईपीओ का लॉट साइज क्या है?

Ans. विष्णुसूर्या प्रोजेक्ट्स एंड इंफ्रा लिमिटेड आईपीओ का लॉट साइज 2000 शेयर है और आवश्यक न्यूनतम राशि 136,000 रुपए है।

Q. विष्णुसूर्या प्रोजेक्ट्स एंड इंफ्रा आईपीओ लिस्टिंग की तारीख कब है?

Ans. विष्णुसूर्या प्रोजेक्ट्स एंड इंफ्रा लिमिटेड आईपीओ की लिस्टिंग की तारीख अभी घोषित नहीं की गई है। इसकी लिस्टिंग की संभावित तारीख शुक्रवार, 13 अक्टूबर, 2023 हो सकती है।

Q. विष्णुसूर्या प्रोजेक्ट्स एंड इंफ्रा आईपीओ में कब प्रवेश कर सकते हैं?

Ans. विष्णुसूर्या प्रोजेक्ट्स एंड इंफ्रा आईपीओ सदस्यता के लिए 29 सितंबर, 2023 को खुलेगा और 5 अक्टूबर, 2023 को बंद होगा।

3 thoughts on “विष्णुसूर्या प्रोजेक्ट्स एंड इंफ्रा आईपीओ समीक्षा 2023 – जीएमपी, मूल्य, विवरण”

Leave a comment