मधुसूदन मसाला आईपीओ समीक्षा 2023 – जीएमपी, मूल्य, विवरण

मधुसूदन मसाला आईपीओ समीक्षा: मधुसूदन मसाला लिमिटेड (Madhusudan Masala Limited) अपना आईपीओ लेकर आ रही है। यह आईपीओ एक एसएमई (लघु और मध्यम आकार का उद्यम) है, जो एनएसई एसएमई पर लिस्टिंग होने जा रहा है। आईपीओ के सदस्यता के लिए खुलने की तारीख 18 सितंबर, 2023 रहेगी और बंद होने की तारीख 21 सितंबर, 2023 रहेगी।

इस ब्लॉग में, हम मधुसूदन मसाला आईपीओ समीक्षा 2023 को देखेंगे और कंपनी के कामकाज, इसकी ताकत और कमजोरियों, इसके फाइनेंसियल और जीएमपी का विश्लेषण करेंगे।

मधुसूदन मसाला आईपीओ
मधुसूदन मसाला आईपीओ

मधुसूदन मसाला आईपीओ – कंपनी ओवरव्यू: (Madhusudan Masala IPO – Company Overview in Hindi)

मधुसूदन मसाला लिमिटेड “महाराजा” और “डबल हाथी” ब्रांड नामों के तहत 32 से अधिक प्रकार के मसालों का उत्पादन और प्रसंस्करण करती है। यह कंपनी साबुत मसाले, चाय और अन्य किराने का सामान जैसे राजगिरा आटा, पापड़, हींग, सोया उत्पाद, अचार मसाला (अचार बनाने के लिए), सिंधालु (सेंधा नमक), संचार (काला नमक), कतलू पाउडर (खाद्य पूरक), कसूरी मेथी (सूखी मेथी) आदि भी इन ब्रांड के तहत प्रदान करती है।

कंपनी खुदरा और थोक मात्रा में साबुत मसालों के साथ-साथ पापड़, सोया उत्पाद, हींग, काला नमक, सेंधा नमक आदि का भी कारोबार करती है।

मधुसूदन मसाला के दो उत्पाद खंड हैं:

पिसे हुए मसाले: इसमें हल्दी पाउडर, मिर्च पाउडर, धनिया पाउडर और जीरा पाउडर आदि शामिल हैं।

मिश्रित मसाले: इसमें चाय मसाला, गरम मसाला, छोले मसाला, पाव भाजी मसाला, सांभर मसाला, पानी पुरी मसाला, किचन किंग मसाला, सब्जी मसाला, चिकन मसाला, चटपटा चाट मसाला, मीट मसाला, बटर मिल्क मसाला, चेवड़ा मसाला, अदरक पाउडर (सनथ), काली मिर्च पाउडर (मारी), अमचूर पाउडर (आमचूर) आदि शामिल है।

कंपनी के राजस्व में 75% का योगदान पिसे हुए मसालों और मिश्रित मसालों के खंडों में विभाजित मसाला व्यवसाय से आता है।

शेष 25% राजस्व अन्य उत्पादों जैसे चाय, खाद्यान्न और किराने के सामान से आता है। इसमें पापड़, राजगिरा आटा, हींग, सोया उत्पाद, अचार मसाला, सिंधालू (सेंधा नमक), संचार (काला नमक), कतलू पाउडर (खाद्य पूरक), कसूरी मेथी, सूखी मेथी जैसी चीजें शामिल हैं।

अपने ब्रांडेड मसालों की बिक्री के अलावा, कंपनी साबुत मसालों और खाद्यान्नों की गैर-ब्रांडेड बिक्री से भी राजस्व प्राप्त करता है।

इनकी विनिर्माण सुविधा जामनगर, गुजरात में स्थित है। इनके पास गुणवत्ता प्रबंधन प्रणाली के लिए आईएसओ 9001:2015, खाद्य सुरक्षा प्रबंधन प्रणाली के लिए आईएसओ 22000:2018, खतरनाक विश्लेषण महत्वपूर्ण नियंत्रण बिंदुओं के लिए एचएसीसीपी और खाद्य सुरक्षा के तहत एफएसएसएआई लाइसेंस भी है।

वित्त वर्ष 2021, 2022 और 2023 में कंपनी को परिचालन से क्रमशः 6,868.03 लाख रुपये, 6,540.81 लाख रुपये और 12,721.60 लाख रुपये का राजस्व प्राप्त हुआ।

मधुसूदन मसाला आईपीओ – इंडस्ट्री ओवरव्यू:

भारत दुनिया भर में मसालों का सबसे बड़ा उत्पादक और निर्यातक है, 180 से अधिक देशों में भारत से मसाले निर्यात होते हैं। हर साल देश में लगभग 10.88 मिलियन टन मसालों का उत्पादन होता है।

2021-22 में मसालों का निर्यात 1.5 मिलियन टन रहा जिसका मूल्य लगभग 30,576 करोड़ रुपए रहा। यह निर्यात कुल उत्पादन का लगभग 14% रहा। 2017-18 से लेकर 2021-22 तक, भारत से कुल निर्यात की मात्रा 10.47% की सीएजीआर से बढ़ी है।

चाय उद्योग में, भारत दूसरा सबसे बड़ा उत्पादक है, 2022 मे भारत का चाय उत्पादन 984.67 मिलियन किलोग्राम रहा।

भारत का खाद्य और किराना बाजार दुनिया में छठा सबसे बड़ा बाजार है।

भारत सरकार ने भारतीय मसालों के विकास और प्रचार को बढ़ावा देने के लिए भारतीय मसाला बोर्ड की स्थापना की है। बोर्ड ने किसानों को मूल्य प्राप्ति में सुधार लाने के लिए आठ फसल-विशिष्ट मसाला पार्क भी लॉन्च किए हैं।

भारतीय खाद्य प्रसंस्करण उद्योग के 2025-26 तक 535 बिलियन अमेरिकी डॉलर तक पहुंचने की उम्मीद है।

शेयर मार्केट की ताजा न्यूज़ के लिए इन्हे भी पढ़ें:

मधुसूदन मसाला आईपीओ – फाइनेंसियल:

मार्च 2021 में कंपनी की संपत्ति 25.9 करोड़ रुपए थी जो बढ़कर मार्च 2023 में 57.3 करोड़ रुपए हो गई है। राजस्व में भी वृद्धि हुई, मार्च 2021 में 68.7 करोड़ रुपए था जो बढ़कर मार्च 2023 में 127.5 करोड़ रुपए हो गया। लेकिन, कंपनी की शुद्ध संपत्ति अपेक्षाकृत स्थिर रही, जो 2021 में 10.94 करोड़ रुपए थी जो बढ़कर 2023 में 10.99 करोड़ रुपए हो गई।

मार्च 2021 में PAT 44.9 लाख रुपए था जो बढ़कर मार्च 2023 में 5.75 करोड़ रुपए हो गया। कंपनी का ROE 101.9% और ROCE 20.8% है। ऋण-से-इक्विटी अनुपात 3.84 है, जो इक्विटी की तुलना में ऋण के उच्च स्तर को दर्शाता है।

फाइनेंसियल मैट्रिक्स:

निचे दी गयी तालिका में कंपनी के कुछ इम्पोर्टेन्ट मैट्रिक्स दिए गए हैं:

अवधि समाप्त31 मार्च 202131 मार्च 202231 मार्च 2023
संपत्ति2,599.903,514.295,736.52
आय6,875.186,651.8112,750.57
कर के बाद लाभ44.9881.29575.89
निवल मूल्य1,094.0931.071,099.10
आरक्षित और अधिशेष-30.07599.10
कुल उधार966.402,819.534,217.20

मधुसूदन मसाला के प्रतिस्पर्धी:

कंपनी के मुख्य प्रतिस्पर्धियों में अदानी फूड प्रोडक्ट्स, गांधी मसाला (हाथी मसाला), रामदेव फूड, बादशाह मसाला, एमडीएच मसाला, एवरेस्ट मसाला, सप्तऋषि मसाला, कैच मसाला और एनएचसी फूड लिमिटेड जैसी कंपनियां शामिल हैं।

कंपनी की ताकतें: (Pros)

  • कंपनी विनिर्माण सुविधा ISO 9001:2015 और ISO 22000:2018 प्रमाणित है।
  • कंपनी के पास 32 से अधिक प्रकार के मसालों और चाय, आटा, पापड़ और सोया उत्पादों जैसे अन्य किराना उत्पादों का पोर्टफोलियो है। यह विस्तृत श्रृंखला उपभोक्ताओं की लगभग सभी आवश्यकताओं को पूरा करती है।
  • कंपनी के पास 31 मार्च, 2023 तक 2100 से अधिक थोक विक्रेताओं और 3700 खुदरा विक्रेताओं का नेटवर्क है।
  • कंपनी इन-हाउस विनिर्माण क्षमताओं से परिपूर्ण है जिसमे मसालों के स्वच्छ प्रसंस्करण, ग्रेडिंग और पैकेजिंग आदि शामिल हैं।
  • कंपनी की विनिर्माण सुविधाएं जोखिम नियंत्रण बिंदुओं के लिए एचएसीसीपी से मान्यता प्राप्त हैं और खाद्य सुरक्षा और मानक अधिनियम 2006 के तहत एफएसएसएआई लाइसेंस भी रखती हैं।

कंपनी की कमजोरियाँ: (Cons)

  • कंपनी कच्चे माल के लिए कृषि उद्योग पर निर्भर है। मौसम की स्थिति फसल उत्पादन को प्रभावित कर सकती हैं और कच्चे माल की कीमतें बढ़ा सकती हैं, जिससे कंपनी के संचालन पर प्रतिकूल प्रभाव पड़ सकता है।
  • कंपनी पापड़, चाय, सोया उत्पादों आदि जैसे कुछ उत्पादों के लिए तीसरे पक्ष के आपूर्तिकर्ताओं पर निर्भर करती है। इन आपूर्तिकर्ताओं से कोई भी समस्या कंपनी के संचालन पर नकारात्मक प्रभाव डाल सकती है।
  • कंपनी कच्चे माल के लिए दीर्घकालिक अनुबंधों के बिना तीसरे पक्ष के विक्रेताओं पर निर्भर है। इससे कंपनी को आपूर्ति की कमी और लागत में वृद्धि जैसे जोखिमों का सामना करना पड़ता है।
  • जिस बाज़ार में कंपनी काम करती है वह उपभोक्ता की रुचि और प्राथमिकताओं में तेजी से बदलाव वाला है।
  • कंपनी का 85% राजस्व गुजरात के विशिष्ट क्षेत्रों से आता है। उत्पादों के वितरण का विस्तार नए बाज़ारों में करने में विफलता से व्यवसाय पर नकारात्मक प्रभाव पड़ सकता है।

मधुसूदन मसाला आईपीओ – जीएमपी: (Madhusudan Masala IPO – GMP in Hindi)

इस कंपनी को 26-9-2023 को स्टॉक एक्सचेंज में सूचीबद्ध किया गया था। आईपीओ को 444.27 गुना सब्सक्राइब किया गया था। इस आईपीओ के लिए अंतिम जीएमपी 61 रुपए थी, 26 सितम्बर 2023 09:32 AM पर अपडेट किया गया। अंतिम जीएमपी के अनुसार, आईपीओ के लिए अपेक्षित लाभ/हानि 87.14% थी।

मधुसूदन मसाला आईपीओ – ​​मुख्य जानकारी:

प्रमोटर: श्री दयालजी वानरावण कोटेचा, श्री ऋषित दयालजी कोटेचा, श्री विजयकुमार वानरावण कोटेचा और श्री हिरेन विजयकुमार कोटेचा कंपनी के प्रमोटर हैं।

बुक रनिंग लीड मैनेजर: हेम सिक्योरिटीज लिमिटेड

प्रस्ताव के रजिस्ट्रार: केफिन टेक्नोलॉजीज लिमिटेड

मधुसूदन मसाला आईपीओ – समय सारिणी (अस्थायी अनुसूची):

यह आईपीओ 18 सितंबर, 2023 को खुलेगा है और 21 सितंबर, 2023 को बंद होगा:

इस आईपीओ से सम्बंधित कुछ महत्वपूर्ण टाईमटेबल निचे की तालिका में दिया गया है:

आईपीओ खुलने की तारीखसोमवार, सितम्बर 18, 2023
आईपीओ बंद होने की तारीखगुरूवार, सितम्बर 21, 2023
आवंटन का आधारमंगलवार, 26 सितंबर 2023
रिफंड की शुरूआतबुधवार, सितम्बर 27, 2023
डीमैट में शेयरों का क्रेडिटशुक्रवार, 29 सितम्बर 2023
लिस्टिंग दिनांकमंगलवार, 3 अक्टूबर, 2023
UPI मैंडेट पुष्टिकरण के लिए कट-ऑफ समय21 सितंबर 2023 को शाम 5 बजे

मधुसूदन मसाला आईपीओ – विवरण:

यह आईपीओ एक एसएमई (लघु और मध्यम आकार का उद्यम) है, जो एनएसई एसएमई पर लिस्टिंग होने जा रहा है। आईपीओ का बुक बिल्ट इश्यू 23.80 करोड़ रुपये है। यह इश्यू 34 लाख शेयरों का इश्यू है। इस आईपीओ की कीमत ₹66 से ₹70 प्रति शेयर है।

आईपीओ के कुछ महत्वपूर्ण विवरण निचे दी गयी तालिका में दिए गए हैं:

आईपीओ तिथि18 सितंबर 2023 से 21 सितंबर 2023 तक
लिस्टिंग दिनांक[3 अक्टूबर, 2023]
फेस वैल्यू₹10 प्रति शेयर
मूल्य बैंड₹66 से ₹70 प्रति शेयर
लॉट साइज2000 शेयर
कुल अंक आकार3,400,000 शेयर (कुल मिलाकर ₹23.80 करोड़ तक)
ताजा अंक3,400,000 शेयर (कुल मिलाकर ₹23.80 करोड़ तक)
विषय वर्गबुक बिल्ट इश्यू आईपीओ
लिस्टिंगएनएसई एसएमई
शेयर होल्डिंग प्री इश्यू9,500,000
शेयर होल्डिंग पोस्ट इश्यू12,900,000
बाज़ार निर्माता भाग172,000 शेयर
शेयर होल्डिंग प्री इश्यू100.00%
शेयर होल्डिंग पोस्ट इश्यू73.64%

केय परफॉरमेंस इंडिकेटर (KPI):

इसकी मार्केट कैप 90.30 करोड़ रुपये है।

के.पी.आईमान
पोस्ट पी/ई (x)15.7
मार्केट कैप (₹ करोड़)90.3
आरओई101.91%
आरओसीई20.08%
ऋण इक्विटी3.84
ईपीएस (रु.)6.94
RoNW52.40%

कंपनी संपर्क विवरण:

मधुसूदन मसाला लिमिटेड,
एफपी नंबर 19,
प्लॉट नंबर 1 – बी हापा रोड,
जामनगर, गुजरात – 361001
फोन : +91- 0288 – 2572002
ईमेल : info@madhusudanmasala.com
वेबसाइट : https://www.madhusudanmasala.com

आईपीओ का उद्देश्य:

कंपनी का उद्देश्य इश्यू से प्राप्त आय का उपयोग निम्नलिखित वस्तुओं के वित्तपोषण के लिए करना है:

  • सामान्य कॉर्पोरेट उद्देश्य
  • कार्यशील पूंजी आवश्यकताओं को पूरा करने के लिए वित्त पोषण

निष्कर्ष:

इस ब्लॉग में हम ने मधुसूदन मसाला लिमिटेड आईपीओ समीक्षा 2023 के विवरण को देखा। हम यह निष्कर्ष निकाल सकते है कि मसाला बाजार में अपनी गुणवत्ता के लिए मशहूर इस कंपनी को कड़ी प्रतिस्पर्धा का सामना करना पड़ रहा है। गुजरात में इनकी शानदार सफलता रही है और इनकी योजना अब पूरे भारत में अपने उत्पाद वितरण करने की है।

इस विस्तार रणनीति में इनकी विनिर्माण सुविधाओं का आधुनिकीकरण से लेकर और उनके वितरण नेटवर्क का विस्तार करना शामिल है। हालाँकि, उपभोक्ता ब्रांडों के प्रति संवेदनशील है और वे उन ब्रांडों पर भरोसा करते हैं जिन्हे वे पहले ही प्रयोग करते आये हैं।

इसलिए किसी भी ब्रांड का विस्तार करना बहुत ही चुनौतीपूर्ण हो सकता है। कंपनी अत्यधिक प्रतिस्पर्धी और खंडित क्षेत्र में काम करती है। फाइनेंसियल ईयर 2023 में इसकी शानदार कमाई के आधार पर इस कंपनी में भविष्य में भी अच्छी कमाई हो सकती है।

अक्सर पूछे जाने वाले प्रश्न: (FAQs)

Q. मधुसूदन मसाला लिमिटेड आईपीओ क्या है?

Ans. मधुसूदन मसाला लिमिटेड आईपीओ, फेस वैल्यू ₹10 के 3,400,000 इक्विटी शेयरों का एक एसएमई आईपीओ है, जो कुल मिलाकर ₹23.80 करोड़ तक का है। इश्यू की कीमत ₹66 से ₹70 प्रति शेयर है। 1 लॉट में 2000 शेयर है।

आईपीओ के खुलने की तारीख 18 सितंबर, 2023 है और बंद होने की तारीख 21 सितंबर, 2023 है। शेयरों को एनएसई एसएमई पर लिस्टिंग करने का प्रस्ताव है।

Q. मधुसूदन मसाला आईपीओ का लॉट साइज क्या है?

Ans. मधुसूदन मसाला आईपीओ का लॉट साइज 2000 शेयर है और आवश्यक न्यूनतम राशि 140,000 रुपए है।

Q. मधुसूदन मसाला आईपीओ लिस्टिंग की तारीख कब है?

Ans. मधुसूदन मसाला आईपीओ लिस्टिंग की तारीख अभी घोषित नहीं हुई है। इसकी संभावित तारीख मंगलवार, 3 अक्टूबर, 2023 हो सकती है।

Q. मधुसूदन मसाला आईपीओ में कब प्रवेश कर सकते हैं?

Ans. मधुसूदन मसाला आईपीओ सदस्यता के लिए 18 सितंबर, 2023 को खुलेगा और 21 सितंबर, 2023 को बंद होगा।

1 thought on “मधुसूदन मसाला आईपीओ समीक्षा 2023 – जीएमपी, मूल्य, विवरण”

Leave a comment