पटेल इंजीनियरिंग को जेवी पार्टनर के साथ NHPC से 3,637 करोड़ का बड़ा आर्डर मिलते ही शेयर में आई तूफानी तेज़ी

हाइड्रो इलेक्ट्रिक और डैम परियाजनाओं के लिए सुरंग बनाने वाली कंपनी पटेल इंजीनियरिंग को जेवी पार्टनर के साथ 3,637 करोड़ रुपये का ठेका मिलने से शेयर में तूफानी तेजी देखने को मिल रही है और इसके शेयर ने 5% के अप्पर सर्किट को हिट कर दिया और शेयर अपने 52 वीक हाई के बिलकुल पास है।

इस ब्लॉग में हम जानेगे कि पटेल इंजीनियरिंग लिमिटेड (Patel Engineering Limited) को कहां-कहां से ताबड़तोड़ आर्डर मिल रहे हैं और साथ में कंपनी के बारे में जानेगे कि कंपनी क्या काम करती है? कंपनी के फाइनेंसियल और कंपनी की भविष्य की योजनाओ के बारे में विस्तार से जानेगे।

a project of पटेल इंजीनियरिंग showing in this image, Construction of Wider Section of Tunnel
a project of पटेल इंजीनियरिंग

पटेल इंजीनियरिंग ऑर्डर्स:

23 मार्च 2023 को कंपनी ने बीएसई को अवगत कराया कि कंपनी को अपने एक भागीदार के साथ मिल कर अरुणाचल प्रदेश में दिबांग बहुउद्देशीय परियोजना 2880 मेगावाट (12 X 240 मेगावाट) के लिए “हेड रेस टनल” के लिए एलओटी-4 के सिविल कार्यों के निर्माण के लिए 3637 करोड़ रुपए का आर्डर मिला है।

इस परियोजना में एनएचपीसी की दिबांग बहुउद्देशीय परियोजना के लिए सुरंग आदि का निर्माण करना है। कंपनी ने इस जॉइंट वेंचर में अपने भागीदार के नाम का खुलासा नहीं किया है। इस जॉइंट वेंचर में 50% की हिस्सेदारी पटेल इंजीनियरिंग की और बाकि की 50 प्रतिशत हिस्सेदारी दूसरे भागीदार की रहेगी। इस अनुबंध में उनकी हिस्सेदारी 1,818.50 करोड़ रुपये की रहेगी। इस परियोजना को अगले 86 महीने की अवधि में पूरा किया जाना है।

22 मार्च 2023 को भी कंपनी को अपने एक जेवी पार्टनर के साथ कर्नाटक में विश्वेश्वरैया जल निगम लिमिटेड से तुमकुर शाखा नहर (पैकेज V) सूक्ष्म सिंचाई परियोजना के लिए 511 करोड़ रुपये का ऑर्डर भी मिला है। कंपनी ने स्टॉक एक्सचेंज फाइलिंग में बताया कि इस जॉइंट वेंचर में उनकी हिस्सेदारी 51 प्रतिशत रहेगी और इस परियोजना में कंपनी की हिस्सेदारी 281.07 करोड़ रहेगी।

सूक्ष्म सिंचाई प्रणाली परियोजना में “परीक्षण, सर्वेक्षण, स्थापना, डिजाइन, आपूर्ति और गुरुत्वाकर्षण बल्क फीडरों को शामिल किया गया है, पंपिंग मशीनरी की आपूर्ति और स्थापना करना, एक नाबदान पंप हाउस का निर्माण करना, इलेक्ट्रिकल सबस्टेशन, टर्मिनल बे इलेक्ट्रिक पावर लाइन आदि शामिल है।” इस परियोजना को अगले 24 महीने की अवधि में पूरा करना है।

पटेल इंजीनियरिंग कंपनी ओवरव्यू:

पटेल इंजीनियरिंग लिमिटेड कंपनी की स्थापना 1949 में हुई, यह कंपनी रियल एस्टेट, इंफ्रास्ट्रक्चर, एसेट ऑनरशिप और टेक्नोलॉजी इनोवेशन में काम करती है। इस कंपनी ने अभी तक दुनिया भर में इंफ्रास्ट्रक्चर में 260 से भी ज्यादा प्रोजेक्ट पुरे किये हैं, जिसमे शामिल हैं 30 हाइड्रो इलेक्ट्रिक प्रोजेक्ट, 75 डैम, 30 माइक्रो ट्यूनल प्रोजेक्ट आदि और इसके साथ ही यह 5.5 लाख एकड़ जमीन पर निर्माण का काम भी कर चुकी है।

इस कंपनी ने भारत, चिल्ली, यूएसए, नेपाल, ग्रीस, कतार, भूटान और श्रीलंका आदि में अपने प्रोजेक्ट किये है। कंपनी वाटर, हाइड्रोपावर, ट्रांसपोर्ट, माइक्रो ट्यूनिंग, ऐसेट ओनरशिप पर कंपनी काम करती है, कंपनी रोड, हाईवे, टनल, सुरंग, ब्रिज, गवर्नमेंट बिल्डिंग का निर्माण, वाटर सप्लाई, इंडस्ट्रियल सेंटर, पावर, होटल, ट्रांसमिशन, ऑयल रिफायनरी, स्टेडियम और डैम बनाने का कंपनी काम करती है।

फाइनेंसियल:

पटेल इंजीनियरिंग लिमिटेड का मार्केट कैप 4,630.10 करोड़ है और इसका पी ई रेश्यो 26.01 है और EPS 2.53 है। कंपनी की अंतिम वर्ष की कुल आय 2,753.684 करोड़ रुपये रही है और कंपनी का शुद्ध लाभ 37.168 करोड़ रुपये रहा है तथा कंपनी ने चालू वर्ष में 61.89 करोड़ रुपये टैक्स का भुगतान भी किया है।

निचे की तालिका में कंपनी का नेट प्रॉफिट मार्जिन दिया गया है:

net profit margin of पटेल इंजीनियरिंग
net profit margin of patel engineering

निचे की तालिका में कंपनी का शेयर हॉल्टिंग पैटर्न दिया गया है:

share holding pattern of पटेल इंजीनियरिंग
patel engineering share holding pattern

निचे की तालिका में कंपनी का कॅश फ्लो स्टेटमेंट दिया गया है:

cash flow of पटेल इंजीनियरिंग
cash flow of patel engineering

शेयर मार्केट की ताजा न्यूज़ के लिए इन्हे भी पढ़ें:

पटेल इंजीनियरिंग की मजबूती: (Pros)

  • कंपनी की पिछले 3 साल की इनकम ग्रोथ 15.59% रही है।
  • कंपनी ने पिछले 3 साल में 25.9% का सीएजीआर रिटर्न दिया है।
  • कंपनी का PEG रेश्यो 0.3 है।

पटेल इंजीनियरिंग की कमजोरी: (Cons)

  • कंपनी के उपर 1,990.71 करोड़ का कर्ज है।
  • प्रोमोटर प्लेड्जिंग 88.67 प्रतिशत की है जो अधिक है।

निष्कर्ष:

इस ब्लॉग में हम ने जाना कि पटेल इंजीनियरिंग लिमिटेड कंपनी कंस्ट्रक्शन सेक्टर और इंजीनियरिंग सेक्टर की एक प्रमुख कंपनी है। हम ने कंपनी के कामकाज और प्रोजेक्ट्स के बारे में विस्तार से जाना। अभी-अभी कंपनी को अपने एक जॉइंट वेंचर पार्टनर के साथ दो बड़े आर्डर मिले हैं जिनका असर अब कंपनी के शेयर प्राइस पर भी दिखाई देने लगा है शेयर ने अप्पर सर्किट को टच किया है और शेयर अपने 52 वीक हाई लेवल पर है। कंपनी के भारत सहित 10 से ज्यादा देशों में प्रोजेक्ट चल रहे हैं।

अक्सर पूछे जाने वाले प्रश्न: (FAQs)

Q. पटेल इंजीनियरिंग का हेड ऑफिस कहां पर है?

Ans. कंपनी का रजिस्टर्ड कार्यालय पटेल एस्टेट रोड, जोगेश्वरी (वेस्ट), मुंबई, महाराष्ट्र पर स्थित है।

Q. पटेल इंजीनियरिंग लिमिटेड के प्रमोटर कौन हैं?

Ans. कंपनी के प्रमोटर रूपेन पटेल, सुनील सप्रे, शोभा शेट्टी, बरेंद्र कुमार भोई, कविता शिरविकर, के रामसुब्रमण्यम, शंभू सिंह, सुनंदा राजेंद्रन, अश्विन रमनलाल परमार हैं।

Q. पटेल इंजीनियरिंग लिमिटेड के चेयरमैन कौन हैं?

Ans. कंपनी के चेयरमैन रूपेण पटेल हैं।

1 thought on “पटेल इंजीनियरिंग को जेवी पार्टनर के साथ NHPC से 3,637 करोड़ का बड़ा आर्डर मिलते ही शेयर में आई तूफानी तेज़ी”

Leave a comment