दीपक नाइट्राइट बनाम दीपक फर्टिलाइजर्स – फाइनेंसियल, भविष्य की योजनाएं

स्पेशिलिटी केमिकल्स और फर्टिलाइजर्स बनाने वाली दोनों कंपनियां दीपक नाइट्राइट और दीपक फर्टिलाइजर्स पिछले कुछ समय से काफी चर्चा में रही है क्योंकि स्पेशिलिटी केमिकल्स और फर्टिलाइजर्स सेक्टर की कई कंपनियों ने काफी अच्छे रीटर्न दिए हैं। इस सेक्टर की दो कंपनियां दीपक ग्रुप की हैं यह कंपनियां दीपक नाइट्राइट और दीपक फर्टिलाइजर्स एंड पेट्रोकेमिकल्स हैं।

इस ब्लॉग में हम दीपक नाइट्राइट बनाम दीपक फर्टिलाइजर्स (Deepak Nitrite Vs Deepak Fertilisers) का तुलनात्मक विश्लेषण करेंगे, दोनों कंपनियों के व्यवसायों और उनके संचालन के बारे में जानेगे। उनकी फाइनेंसियल हेल्थ के बारे में जानेंगे और उनकी भविष्य की योजनाओं के बारे में एक नज़र डालेंगे।

light pink back ground image showing factory दीपक नाइट्राइट बनाम दीपक फर्टिलाइजर्स and showing logo of group in the top of image
दीपक नाइट्राइट बनाम दीपक फर्टिलाइजर्स

दीपक नाइट्राइट बनाम दीपक फर्टिलाइजर्स – कंपनी ओवरव्यू:

दीपक नाइट्राइट लिमिटेड (डीएनएल) और दीपक फर्टिलाइजर्स एंड पेट्रोकेमिकल्स लिमिटेड (डीएफपीसीएल) दोनों कंपनियों की शुरुआत चिमनलाल के. मेहता द्वारा की गई थी। डीएनएल की स्थापना 1970 में हुई थी जबकि डीएफपीसीएल की स्थापना 1979 में हुई थी। वर्तमान में सी के मेहता के दो बेटे दीपक मेहता और शैलेश मेहता क्रमशः डीएनएल और डीएफपीसीएल का मैनेजमेंट देखते हैं।

दीपक नाइट्राइट: (Deepak Nitrite)

दीपक नाइट्राइट लिमिटेड (डीएनएल) सबसे तेजी से बढ़ती भारतीय रासायनिक कंपनियों में से एक है। यह सोडियम नाइट्रेट, सोडियम नाइट्राइट, फिनोल और एसीटोन की सबसे बड़ी निर्माता कंपनी है। कंपनी के पास 2 निर्माणाधीन स्थलों के साथ 6 अत्याधुनिक उत्पादन यूनिट हैं।

यह कंपनी 30 से अधिक उत्पादों का निर्माण करती है जिसका उपयोग दुनिया भर के 46 देशों में होता है और इनके पास 1,000 से अधिक ग्राहकों की संख्या है। इसके प्रोडक्ट एग्रोकेमिकल्स, रसायन पेट्रोकेमिकल्स, रबर, कागज, फार्मास्यूटिकल्स, डिटर्जेंट आदि के कई उद्योगों में प्रयोग होते हैं। यह मुख्य रूप से दो प्रकार के उत्पाद बनाती है: एडवांस्ड इंटरमीडिएट्स (एआई) और फेनोलिक्स।

इसके रेवेन्यू के बारे में बात करें तो AI डिवीजन और फेनोलिक्स डिवीजन का FY2023 में क्रमशः 38% और 62% का हिस्सा रहा है। उनका EBIT क्रमशः 48% और 52% रहा है। कंपनी की कुल आय का 80% भारत से आया जबकि बाकि इंटरनेशनल मार्केट से आया है।

image showing Indian map in light blue color with indicate दीपक नाइट्राइट products, offices and company network
दीपक नाइट्राइट

दीपक फर्टिलाइजर्स एंड पेट्रोकेमिकल्स कॉर्पोरेशन:

(Deepak Fertilisers & Petrochemicals Corporation)

दीपक फर्टिलाइजर्स एंड पेट्रोकेमिकल्स कॉर्पोरेशन लिमिटेड (DFPCL) भारत की सबसे बड़ी रसायन और उर्वरक कंपनियों में से एक है। यह औद्योगिक रसायनों, खनन रसायनों और फसल पोषण उत्पादों को बनती है।

यह कंपनी कार्बन डाइऑक्साइड, आइसोप्रोपिल अल्कोहल, नाइट्रिक एसिड, मेथनॉल, नाइट्रोजन फॉस्फोरस पोटेशियम वेरिएंट, नाइट्रो फॉस्फेट, पानी में घुलनशील उर्वरक, अमोनियम नाइट्रेट आदि बनाती है। कंपनी ने रियल एस्टेट बाजार में कदम रखते हुए क्रिएटिसिटी नाम से एक होम लाइफस्टाइल सेंटर बनाया है।

मुख्य रूप से इसके रसायनों का उपयोग स्टील, सौर ऊर्जा, रंग, विस्फोटक, सौंदर्य प्रसाधन, खनन, फार्मास्यूटिकल्स, कृषि, पेंट आदि उद्योगों में होता है। डीएफपीसीएल के पास चार उत्पादन यूनिट्स हैं। इसके अलावा अमोनिया और अमोनियम नाइट्रेट की दो यूनिट निर्माणाधीन हैं।

दीपक फर्टिलाइजर्स के रेवेन्यू के बारे में बात करें तो इसकी आय का 57% हिस्सा औद्योगिक और खनन रसायनों के निर्माण से आता है और बाकि का 43% हिस्सा उर्वरकों के उत्पादन से आता है।

दीपक नाइट्राइट बनाम दीपक फर्टिलाइजर्स – इंडस्ट्री ओवरव्यू:

2021 में इंटरनेशनल रसायन बाजार में भारत के पास 170-180 बिलियन डॉलर मूल्य की 3 – 3.5% हिस्सेदारी थी। यह 2027 तक प्रति वर्ष 9 -10% की सीएजीआर से बढ़कर 290-300 बिलियन डॉलर तक पहुंचने की उम्मीद है। 2040 तक 850-1,000 बिलियन डॉलर तक पहुँचने की उम्मीद है।

रसायन उद्योग को पांच उप-खंडों में विभाजित किया जाता है: स्पेशिलिटी केमिकल्स, अकार्बनिक रसायन, पेट्रोकेमिकल, उर्वरक, फार्मा और पर्सनल केयर आदि। इसमें से 2021-2027 के दौरानस्पेशिलिटी केमिकल्स की मांग 11.5% सीएजीआर पर सबसे तेजी से बढ़ने का अनुमान है।

इस अवधि के दौरान अकार्बनिक और पेट्रोकेमिकल्स उप-क्षेत्रों में 11% की सीएजीआर से बढ़कर $25 बिलियन और $90-100 बिलियन तक पहुंचने की उम्मीद है। उर्वरक के 6% वार्षिक दर से बढ़ने का अनुमान है।

image showing indian chemicals market distribution ratio in USD and CAGR with दीपक फर्टिलाइजर्स share of distribution
दीपक फर्टिलाइजर्स

दीपक नाइट्राइट बनाम दीपक फर्टिलाइजर्स – फाइनेंसियल:

(Deepak Nitrite Vs Deepak Fertilisers – Financials)

रेवेन्यू और नेट प्रॉफिट:

दोनों कंपनियों का रेवेन्यू और नेट प्रॉफिट तेज गति से बढ़ा है। DNL और DFPCL ने FY2023 में क्रमशः 852 करोड़ रुपये और 1,221 करोड़ रुपये का नेट प्रॉफिट दिया है।

नीचे दी गयी इमेज में पिछले पांच वर्षों का दीपक नाइट्राइट और दीपक फर्टिलाइजर्स एंड पेट्रोकेमिकल्स कॉर्पोरेशन का रेवेन्यू और नेट प्रॉफिट दिया गया है:

image showing revenue and net profit for last five year of दीपक नाइट्राइट बनाम दीपक फर्टिलाइजर्स
revenue and net profit

प्रॉफिट मार्जिन:

दीपक नाइट्राइट बनाम दीपक फर्टिलाइजर्स के लिए मार्जिन का अध्ययन करने पर हम कह सकते हैं कि दीपक नाइट्राइट स्पेशिलिटी केमिकल्स क्षेत्र में उच्च मार्जिन पर काम कर रही है। FY2023 को छोड़कर, DNL ने DFPCL की तुलना में EBITDA और PAT मार्जिन का अच्छा प्रदर्शन किया है।

नीचे दी गयी इमेज में दीपक नाइट्राइट और दीपक फर्टिलाइजर्स एंड पेट्रोकेमिकल्स कॉर्पोरेशन के पिछले पांच वर्षों के EBITDA और नेट प्रॉफिट मार्जिन दिया गया है:

image showing profit margins for last five year of दीपक नाइट्राइट बनाम दीपक फर्टिलाइजर्स
profit margins

रीटर्न रेश्यो:

दीपक नाइट्राइट पर कम मुनाफे के कारण डीएनएल और डीएफपीसीएल का रिटर्न अनुपात वित्त वर्ष 2023 में बदल गया है। हालाँकि, पिछले आंकड़ों को देखते हुए हम कह सकते हैं कि दीपक नाइट्राइट, दीपक फर्टिलाइजर्स से अधिक लाभ देती है।

नीचे दी गई इमेज में दीपक नाइट्राइट और दीपक फर्टिलाइजर्स एंड पेट्रोकेमिकल्स कॉरपोरेशन के पिछले पांच वर्षों के रिटर्न (आरओसीई) और इक्विटी पर रिटर्न (आरओई) दिए गए हैं:

image showing return ratio for last five year of दीपक नाइट्राइट बनाम दीपक फर्टिलाइजर्स
return ratio

डेब्ट एनालिसिस:

दोनों ही कंपनियों ने कर्ज को कम किया है। दीपक नाइट्राइट पर कोई ऋण नहीं है, जबकि दीपक फर्टिलाइजर्स का ऋण/इक्विटी अनुपात वित्त वर्ष 2019 में 1.5 से घटकर वित्त वर्ष 2023 में 0.7 हो गया है। साथ ही दोनों कंपनियों ने अपने ब्याज कवरेज अनुपात में सुधार किया है।

नीचे दी गई इमेज में पिछले पांच वित्तीय वर्षों के दीपक नाइट्राइट और दीपक फर्टिलाइजर्स एंड पेट्रोकेमिकल्स कॉर्पोरेशन के ऋण/इक्विटी अनुपात और ब्याज कवरेज अनुपात दिए गए हैं:

image showing debt and equity ratio for last five year of दीपक नाइट्राइट बनाम दीपक फर्टिलाइजर्स
debt and equity

प्रमुख मेट्रिक्स:

दीपक नाइट्राइट बनाम दीपक फर्टिलाइजर्स के प्रमुख मेट्रिक्स निचे की इमेज में दिए गए हैं:

image showing key metrics of दीपक नाइट्राइट बनाम दीपक फर्टिलाइजर्स
key metrics

दीपक नाइट्राइट बनाम दीपक फर्टिलाइजर्स – भविष्य की योजनाएं:

दीपक नाइट्राइट की भविष्य की योजनाएँ:

डीएनएल ने विभिन्न परियोजनाओं के लिए 2,500 करोड़ रुपये के महत्वपूर्ण निवेश की घोषणा की है। इसका प्रबंधन कच्चे माल की उपलब्धता, पिछड़ा एकीकरण, उत्पाद पोर्टफोलियो विविधीकरण और नए रसायन विज्ञान प्लेटफार्मों के समावेश पर केंद्रित है।

दीपक फर्टिलाइजर्स की भविष्य की योजनाएं:

डीएफपीसीएल ने वित्त वर्ष 2026 तक अमोनिया की अपनी क्षमता को बढ़ाने के लिए 4,350 करोड़ रुपये का बड़ा निवेश निर्धारित किया है और तकनीकी अमोनियम नाइट्रेट के लिए 2,201 करोड़ रुपये के निवेश का लक्ष्य बनाया है।

शेयर मार्केट की ताजा न्यूज़ के लिए इन्हे भी पढ़ें:

निष्कर्ष:

इस ब्लॉग में हम ने दीपक नाइट्राइट बनाम दीपक फर्टिलाइजर्स का तुलनात्मक अध्ययन किया, हम कह सकते हैं कि डीएनएल, डीएफपीसीएल की तुलना में एक मजबूत और अच्छी कंपनी है, हालांकि इस वित्तीय वर्ष में इसका प्रॉफिट थोड़ा कम हुआ है। इसके बावजूद भी यह डीएफपीसीएल के 6,700 करोड़ रुपये के मुकाबले 27,437 करोड़ रुपये का बाजार पूंजीकरण देते हुए अच्छी पीई पर कारोबार कर रही है।

हालाँकि दीपक फर्टिलाइजर्स एंड पेट्रोकेमिकल्स ज्यादा पीछे नहीं दिखाई दे रही है है। निवेशकों को इन दोनों कंपनियों के शेयर पर अपनी नज़र रखनी चाहिए।

अक्सर पूछे जाने वाले प्रश्न: (FAQs)

Q. दीपक नाइट्राइट क्या काम करती है?

Ans. यह सोडियम नाइट्राइट, सोडियम नाइट्रेट, फिनोल और एसीटोन का निर्माण करती है।

Q. दीपक फर्टिलाइजर्स एंड पेट्रोकेमिकल्स कॉर्पोरेशन क्या काम करती है?

Ans. यह कंपनी कार्बन डाइऑक्साइड, नाइट्रिक एसिड, आइसोप्रोपिल अल्कोहल, मेथनॉल, नाइट्रो फॉस्फेट, नाइट्रोजन फॉस्फोरस पोटेशियम वेरिएंट, पानी में घुलनशील उर्वरक, अमोनियम नाइट्रेट आदि बनाती है।

2 thoughts on “दीपक नाइट्राइट बनाम दीपक फर्टिलाइजर्स – फाइनेंसियल, भविष्य की योजनाएं”

Leave a comment