ईएमएस आईपीओ समीक्षा – जीएमपी

ईएमएस आईपीओ समीक्षा: ईएमएस लिमिटेड (EMS Limited) अपना आईपीओ लेकर आ रही है। आईपीओ सदस्यता के लिए खुलने की तारीख 8 सितंबर, 2023 रहेगी और बंद होने की तारीख 12 सितंबर, 2023 रहेगी।

इस ब्लॉग में, हम ईएमएस आईपीओ समीक्षा करेंगे और इसके मूल्य विवरण, जीएमपी, कंपनी के कामकाज, फाइनेंसियलस, कंपनी की ताकतों और कमजोरियों के बारे में जानेगे।

ईएमएस लिमिटेड आईपीओ
ईएमएस लिमिटेड आईपीओ

ईएमएस आईपीओ – कंपनी ओवरव्यू:

2012 में निगमित, ईएमएस लिमिटेड जिसे पहले ईएमएस इंफ्राकॉन के नाम से जाना जाता था, यह कंपनी पानी और अपशिष्ट जल संग्रह, उपचार और निपटान सेवाएं प्रदान करने का कार्य करती है। कंपनी सरकारी संस्थाओं के लिए जल और अपशिष्ट उपचार सुविधाएं, जल आपूर्ति प्रणाली, विद्युत पारेषण और वितरण, सड़क और सड़क से सम्बंधित कार्य, अपशिष्ट जल योजना परियोजनाओं (डब्ल्यूडब्ल्यूएसपी) और जल आपूर्ति योजना परियोजनाओं (डब्ल्यूएसएसपी) के संचालन और रखरखाव के कार्य करती है।

कंपनी के पास निर्माण, इंजीनियरिंग और डिज़ाइनिंग के लिए अपनी विशेष इन-हाउस टीम है। जिसमे 61 इंजीनियरों की एक टीम है जिसके साथ ही बाहरी सलाहकारों और उद्योग विशेषज्ञों की सहायता ली जाती है ताकि उद्योग और सरकारी एजेंसियों और सरकारी विभागों द्वारा स्थापित गुणवत्ता मानकों का पालन हो सके।

24 मार्च, 2023 तक, यह कंपनी 13 से ज्यादा परियोजनाओं का प्रबंधन और संचालन कर रही है, जिसमें डब्ल्यूएसएसपी, डब्ल्यूडब्ल्यूएसपी, एचएएम और एसटीपी शामिल हैं, जिनकी कुल कीमत लगभग 1,38,909 लाख रुपये है। 28 फरवरी, 2023 तक, इनके पास 5 ओ एंड एम परियोजनाएं हैं, जिनकी कुल कीमत लगभग 9,928 लाख रुपये है, ये सभी परियोजनाएँ पाँच राज्यों में स्थित हैं।

ईएमएस आईपीओ – इंडस्ट्री ओवरव्यू:

कंपनी जिन क्षेत्रों का संचालन करती है वह निम्नलिखित है:

जल आपूर्ति और अपशिष्ट जल प्रबंधन प्रणाली:

भारत सरकार ने जल आपूर्ति और सीवेज बुनियादी ढांचे में पिछले कुछ वर्षों में काफी सुधार किये हैं। अटल भूजल योजना, जेजेएम और जल शक्ति ऐसे कुछ उदाहरण हैं जो पिछले सात वर्षों में शुरू किए गए हैं। जेजेएम (राष्ट्रीय पेयजल मिशन) का बजट वित्त वर्ष 2023 में ₹550 बिलियन था जो बढ़कर वित्त वर्ष 2024 में ₹700 बिलियन हो गया है।

रेलवे उद्योग:

भारत सरकार द्वारा संचालित भारतीय रेलवे दुनिया का सबसे बड़ा ट्रेन नेटवर्क है जो भारतीय अर्थव्यवस्था की रीढ़ की हड्डी माना जाता है। जिसमे 9,000 से अधिक मालगाड़ियों और 13,500 से अधिक यात्री ट्रेनों द्वारा 203 मिलियन टन माल और 24 मिलियन से अधिक लोगों का परिवहन किया जाता है। भारत में सबसे अधिक लोगों को रोजगार देने का काम भारतीय रेलवे करता है, जो देश की जीडीपी में 1.5% से अधिक का योगदान देता है। सरकार ने FY2024 के बजट में रेलवे के लिए ₹2,400 बिलियन रुपये (वर्ष-दर-वर्ष 70%) की वृद्धि का प्रस्ताव रखा।

सड़क और राजमार्ग उद्योग:

इंफ्रास्ट्रक्चर इस समय सरकार की मुख्य प्राथमिकता है। राजमार्गों, पुलों, हवाई अड्डों और रेलमार्गों के विकास पर अहम् ध्यान है।
वित्त वर्ष 2020-2025 के लिए राष्ट्रीय अवसंरचना पाइपलाइन (एनआईपी) पर निवेश में ₹111 ट्रिलियन डॉलर का अनुमान लगाया जा रहा है, जिसमें सड़क क्षेत्र पर निवेश का 18% रहेगा। राजमार्गों पर लगभग ₹1,600 बिलियन का निवेश रहेगा।

विद्युत क्षेत्र:

जनसंख्या और आर्थिक गतिविधि बढ़ने के कारण भविष्य में बिजली की मांग बढ़ने का अनुमान है। सरकार ने FY2022 से FY2026 तक 30,40,000 मिलियन रुपये के परिव्यय के साथ एक वितरण योजना लागू की है।

शेयर मार्केट की ताजा न्यूज़ के लिए इन्हे भी पढ़ें:

ईएमएस आईपीओ समीक्षा – फाइनेंसियल:

इस कंपनी की वित्तीय स्थिति को देखने से पता चलता है कि इनकी संपत्ति मार्च 2021 में ₹378.31 करोड़ थी जो बढ़कर मार्च 2023 में ₹638.72 करोड़ हो गई है। इनका राजस्व भी मार्च 2021 में ₹336.18 करोड़ था जो बढ़कर मार्च 2023 में ₹543.28 करोड़ हो गया है। राजस्व में वृद्धि के साथ-साथ कंपनी का प्रॉफिट भी बढ़ रहा है, जो मार्च 2021 में ₹71.91 करोड़ था जो बढ़कर मार्च 2023में ₹108.67 करोड़ हो गया है।

कंपनी ने राजस्व और मुनाफे में तो वृद्धि की है, लेकिन इसका शुद्ध लाभ मार्जिन लगातार 20-22% के दायरे में ही बना हुआ है। FY2023 तक इसका ROE 22.27% और RoCE 28.26% है। ऋण-से-इक्विटी अनुपात कंपनी के लिए सकारात्मक है। इसके एसेट-लाइट मॉडल के कारण FY2023 के लिए 0.09 पर रिपोर्ट किया गया था।

फाइनेंसियल मेट्रिक्स:

financial metrics of ईएमएस आईपीओ
financial metrics of ईएमएस आईपीओ

कंपनी के प्रतिस्पर्धी:

कंपनी की सहकर्मी तुलना विभिन्न व्यावसायिक क्षेत्रों के तहत काम करने वाली बुनियादी ढांचा कंपनियों के साथ की जा सकती है।

विभिन्न व्यावसायिक क्षेत्रों में इसके प्रतिस्पर्धी निम्नलिखित हैं:

  1. बिजली और रेलवे, शहरी बुनियादी ढांचा, सड़कें: आरपीपी इंफ्रा प्रोजेक्ट्स लिमिटेड, सिम्प्लेक्स इंफ्रास्ट्रक्चर लिमिटेड और आईवीआरसीएल इंफ्रास्ट्रक्चर एंड प्रोजेक्ट्स लिमिटेड
  2. अपशिष्ट जल उपचार और जल आपूर्ति: जेडब्ल्यूआईएल इंफ्रा लिमिटेड और वीए टेक वाबैग लिमिटेड

कंपनी की ताकतें: (Pros)

  • परियोजनाओं की इंजीनियरिंग और डिजाइनिंग तकनीकी रूप से जटिल रहती हैं। कंपनी अपने ग्राहकों को कम लागत पर सेवाओं को प्रदान करने के लिए अपनी तकनीकी क्षमताओं मर लगातार सुधार करती रहती है।
  • कंपनी के पास एक इन-हाउस इंजीनियरिंग और डिज़ाइनिंग टीम है, कंपनी तीसरे पक्ष के सलाहकारों की आउटसोर्सिंग इंजीनियरिंग पर कम निर्भर रहती है।
  • कंपनी की अधिकांश परियोजनाएं स्थानीय राज्य सरकारी निकायों के माध्यम से विश्व बैंक द्वारा चलाई जाती हैं। इससे कंपनी को समय पर भुगतान करने में मदद मिलती है।

कंपनी की कमजोरियाँ: (Cons)

  • सरकार द्वारा प्राप्त अनुबंधों में ऐसी शर्तें होती हैं जो सरकार के पक्ष में होती हैं। जो उसकी परियोजनाओं के पूरा करने के साथ साथ कभ को भी प्रभावित कर सकते हैं।
  • सरकारी परियोजनाओं को पूरा करने के लिए, कभी -कभी कंपनी संयुक्त उद्यम भागीदारों पर भी निर्भर रहती है। संयुक्त उद्यम भागीदारों द्वारा अपने दायित्वों को पूरा न करने से कंपनी पर अतिरिक्त वित्तीय और प्रदर्शन दायित्व पड़ सकता है, जो कंपनी के लाभ को प्रभावित कर सकता है।
  • कंपनी द्वारा किसी परियोजना के पूरा होने में देरी के लिए जुर्माना लगने की सम्भावना रहती है, जो लाभ को प्रभावित कर सकता है।

ईएमएस आईपीओ – जीएमपी:

इस कंपनी को 21-9-2023 को स्टॉक एक्सचेंज में सूचीबद्ध किया गया था। आईपीओ को 76.21 गुना सब्सक्राइब किया गया था। इस आईपीओ के लिए अंतिम जीएमपी 88 रुपए थी, 21 सितम्बर 2023 09:32 AM पर अपडेट किया गया। अंतिम जीएमपी के अनुसार, आईपीओ के लिए अपेक्षित लाभ/हानि 41.71% थी।

ईएमएस आईपीओ – ​​मुख्य सूचना:

ईएमएस आईपीओ - ​​मुख्य आईपीओ सूचना
ईएमएस आईपीओ – ​​मुख्य आईपीओ सूचना

प्रमोटर: श्री रामवीर सिंह और श्री आशीष तोमर

बुक रनिंग लीड मैनेजर: खंबाटा सिक्योरिटीज लिमिटेड

ऑफर के रजिस्ट्रार: केफिन टेक्नोलॉजीज लिमिटेड

निष्कर्ष:

इस ब्लॉग में हमने ईएमएस लिमिटेड आईपीओ समीक्षा के बारे में विस्तार से जाना और हम यह निष्कर्ष निकल सकते हैं कि कंपनी ने अतीत में अच्छी वृद्धि दिखाई है और आगे भी बढ़ने की संभावना है, लेकिन वह सरकार से आगे भी परियोजनाएं प्राप्त करती रहे और उन परियोजनाओं को समय पर पूरा करती रहे।

अक्सर पूछे जाने वाले प्रश्न: (FAQs)

Q. ईएमएस लिमिटेड आईपीओ खुलने की तारीख क्या है?

Ans. आईपीओ सदस्यता के लिए खुलने की तारीख 8 सितंबर 2023 रहेगी।

Q. ईएमएस लिमिटेड आईपीओ बंद होने की तारीख क्या है?

Ans. आईपीओ सदस्यता के लिए बंद होने की तारीख 12 सितंबर 2023 रहेगी।

Q. ईएमएस लिमिटेड आईपीओ लिस्टिंग की तारीख क्या है?

Ans. आईपीओ लिस्टिंग की तारीख 21 सितंबर 2023 रहेगी।